गृह प्रवेश करने का शुभ मुहूर्त कब है 2024 | गृह प्रवेश शुभ मुहूर्त | grah pravesh ka muhurat

अनुक्रम

आज हम गृह प्रवेश मुहूर्त के बारे में जानने वाले हैं। अगर आप भी गृह प्रवेश मुहूर्त के बारे में जानना चाहते है। तो आप यहां पर देख सकते हैं। यहां पर आपको पंचांग द्वारा निकाला गया शुभ मुहूर्त दिय गया हैं।

grah pravesh ka muhurat – जब भी शुभ घड़ी में गृह प्रवेश किया जाता है। तब उस घर में समृद्धि, खुशहाली और शांति लेकर आता है। यह इसलिए हो पाता है। कि जब भी कोई गृह प्रवेश का शुभ मुहूर्त निकलता है। तब उस समय तिथि, नक्षत्र, लग्न और वार को विशेष तौर पर देखा जाता है। जो कि एक बेहद संयोग बनाते हैं।

गृह प्रवेश करने का शुभ मुहूर्त जनवरी 2024

दिनांकवारसमय
17 जनवरी 2024बुधवारचंद्र शुद्धि
21 जनवरी 2024रविवारप्रातः 5:21 से प्रातः 6:19 तक

गृह प्रवेश करने का शुभ मुहूर्त मार्च 2024

दिनांकवारसमय
7 मार्च 2024गुरुवारप्रातः 6:32 से सुबह 8:00 बजे तक

गृह प्रवेश मुहूर्त कैसे निकाले?

गृह प्रवेश का मुहूर्त स्वयं निकालने के लिए आपके पास एक ज्योतिषी पंचांग का होना अति आवश्यक है। क्योंकि आपको पंचांग के माध्यम से ही नक्षत्र, वार, तिथि, लग्न, मास आदि के बारे में जानकारी प्राप्त होगा।

यहां पर नीचे नक्षत्र, वार, तिथि, लग्न, मास आदि के बारे में जानकारी दिया गया है। जिसको आप देख सकते हैं। जिस दिन यह सब एक साथ मिल जाते हैं। उस दिन अगर कोई दोष या अशुभ समय ना हो तो एक मुहूर्त बनता है।

जिस मुहूर्त में आप अपने कार्य को करके लाभ प्राप्त करते हैं। अगर उस मुहूर्त के दिन कोई शुभ योग बन जाता है। तो यह अति उत्तम होता है।

अब यहां पर नक्षत्र, वार, तिथि, लग्न, मास आदि के बारे में जानकारी दिया जा रहा है।

गृहप्रवेश के लिए कौन सा महीना अच्छा है?

गृह प्रवेश करने के लिए सबसे उत्तम माह माघ, फाल्गुन, वैशाख, ज्येष्ठ यह सबसे उत्तम माह माना गया है। वही कार्तिक, मार्गशीर्ष को मध्यम माह माना गया है। आप इस माह में गृह प्रवेश करते हैं। तो आपके लिए बेहद सकारात्मक परिणाम देखने को मिलता है।

कौन-कौन से नक्षत्र में गृह प्रवेश किया जाता है?

गृहप्रवेश को करने के लिए सबसे उत्तम नक्षत्र उत्तराभाद्रपद, उत्तराफाल्गुनी, उत्तराषाढ़ा, रोहिणी, मृगशिरा, चित्रा, अनुराधा और रेवती है। इन नक्षत्रों में गृह प्रवेश करना शुभ माना जाता है।

गृह प्रवेश के लिए कौन सा दिन अच्छा है?

गृहप्रवेश करने के लिए मंगलवार और कुछ परिस्थितियों में रविवार को छोड़कर किसी भी वार को किया जा सकता हैं।

कौन सी तिथि में गृह प्रवेश करें?

गृहप्रवेश करने के लिए सबसे शुभ तिथि शुक्ल पक्ष की द्वितीया, तृतीया, पंचमी, सप्तमी, दशमी, एकादशी, द्वादशी और त्रयोदशी तिथि होता हैं। इन सभी तिथियों को अत्यंत शुभ तिथि माना जाता है। लेकिन अमावस्या और पूर्णिमा की तिथि को गृहपवेश नहीं करना चाहिए। क्योंकि यह शुभ माना जाता है।

किस-किस लग्न में गृहप्रवेश करना चाहिए?

गृहप्रवेश को करने के लिए सबसे उत्तम लग्न वृषभ, सिंह, वृश्चिक और कुंभ है। वही मिथुन, कन्या, धनु और मीन यह मध्यम लग्न है।

नए मकान में रहने से पहले क्या करना चाहिए?

नए घर में प्रवेश करने से पहले नए घर को साफ सुथरा और सोच कर लेना चाहिए। घर के आसपास के वातावरण को भी साफ करना चाहिए। जब घर की सफाई पूरी हो जाए तब शुभ समय में गृह प्रवेश करना चाहिए। गृहप्रवेश को करने के लिए आप गृह प्रवेश का शुभ मुहूर्त अवश्य देखें।

क्योंकि शुभ समय में किया गया गृहप्रवेश उस घर में रहने वाले सभी व्यक्ति को फलदाई होता है। उस घर में सकारात्मक ऊर्जा बना रहता है। गृह प्रवेश के समय घर को अच्छी तरह से सजाना चाहिए खासतौर पर मुख्य दरवाजे को सजाना चाहिए।

घर में रंगोली भी बनाना चाहिए। क्योंकि रंगोली बनाने से मां लक्ष्मी का वास होता है। इसलिए मुख्य दरवाजे पर आम के पत्तों का तोरण, गेंदे के फूल से सजाना शुभ माना जाता है। उसके बाद किसी पंडित को बुलाकर गृहप्रवेश कराना चाहिए।

क्या सावन के महीने में गृह प्रवेश कर सकते हैं?

जब कोई व्यक्ति अपने घर से काफी लंबे समय तक दूर रहता है। उसके बाद वह अपने घर में आना चाहता है। तो उस समय अगर वह गृह प्रवेश का मुहूर्त देखें। तो श्रावण के महीने में भी गृह प्रवेश कर सकता है। लेकिन अगर नए घर में गृह प्रवेश करना हो, तो यह न करें। यहां पर केवल पुराने घर में ही गृहप्रवेश करना उत्तम माना गया है।

क्या गृहप्रवेश के लिए अक्षय तृतीया सही है?

अगर बात अक्षय तृतीया की चीज है। तो यह एक बेहद शुभ मुहूर्त है। यह बात आप सभी लोग जानते होंगे। लेकिन यह आवश्यक नहीं है। कि अक्षय तृतीया के दिन गृह प्रवेश करना शुभ हो। क्योंकि सभी मुहूर्त के लिए अक्षय तृतीया शुभ नहीं हो सकता।

कुछ खास योग बनाने से मुहूर्त का निर्माण होता है। वहीं कुछ ऐसे योग बन जाते हैं। जिससे विष योग का भी निर्माण हो जाता है। इसलिए अगर आपको इसके बारे में जानकारी ना हो, तो आप किसी विद्वान की सलाह लेकर ही अक्षय तृतीया पर गृहप्रवेश करें।

अक्षय तृतीया के दिन गृह प्रवेश का शुभ मुहूर्त बनने के बाद भी वह मुहूर्त आपके लिए शुभ हो। क्योंकि कोई भी मुहूर्त सभी राशियों के लिए शुभ नहीं होता है।

क्या गृह प्रवेश से पहले आप सामान शिफ्ट कर सकते हैं?

बिना गृह प्रवेश किए हुए घर में सामान को शिफ्ट करना उचित नहीं होगा। क्योंकि किसी भी घर में निवास करने के लिए सबसे पहले उस घर का पूजा करना आवश्यक है।

इसीलिए गृह प्रवेश हो जाने के बाद ही उस घर के अंदर कोई भी सामान शिफ्ट करें। नहीं तो वही बात होगा, कि भगवान को भोग लगाने से पहले ही प्रसाद को खा लिया जाए, और इच्छा जताया जाए कि भगवान हमारी मनोकामनाएं पूर्ण करेंगे।

तो बताइए जब वह प्रसाद भगवान को चढ़ा ही नहीं, तो वह प्रसाद आपको क्या फल देगा। इसलिए गृह प्रवेश करना अनिवार्य है।

हां वह अलग बात है, कि अगर आप को अति आवश्यक है। घर में सामान शिफ्ट करना तो कर सकते हैं। क्योंकि जहां पर आवश्यकता की बात आ जाती है। उसके सामने कोई और दूसरा रास्ता नजर नहीं आता है। तो वहां पर अति नहीं करना चाहिए। वहां पर वह अपने नए घर में सामान शिफ्ट कर सकता है।

लेकिन आवश्यकता ना हो तो गृह प्रवेश करने के बाद ही अपने घर में सामान को शिफ्ट करें।

किराये के घर में गृह प्रवेश पूजा कैसे करानी चाहिए?

जहां पर बाद गृह प्रवेश की आती है। तो सभी ग्रह प्रवेश एक जैसा ही किया जाता है। चाहे वह पुराने घर में गृह प्रवेश करना हो या नए घर में गृह प्रवेश करना हो या किराए के घर में गृह प्रवेश करना हो, वह आप पर निर्भर करता है। कि आप कितना उसे भव्य तरीके से करते हैं। लेकिन सभी ग्रह प्रवेश एक जैसा ही किया जाएगा।

क्या नवरात्रि में गृह प्रवेश?

यहां पर भी वही सिद्धांत लागू होता है। जो मैंने आपको ऊपर अक्षय तृतीया के संबंध में बताया हूं। क्योंकि यहां पर भी आ गए सूर्य मीन राशि में संचरण करेगा। तो उस समय खरमास का महीना कहलाता है।

इसलिए इसमें भी गृहप्रवेश नहीं किया जाएगा। लेकिन हां अगर सूर्य मीन राशि में नहीं रहेगा। उस समय नवरात्रि पड़ता है। जोकि चैत्र मास का रहेगा, तो उसमें गृह प्रवेश किया जा सकता है।

इसलिए अगर आप जब भी गृह प्रवेश का मुहूर्त निकालना हो तो, किसी विद्वान व्यक्ति से ही निकलवाए। क्योंकि स्वयं गृह प्रवेश का मुहूर्त निकालना, आपके लिए हानिकारक सिद्ध हो सकता है।

किराये के मकान में जाने से पहले क्या करना चाहिए?

अगर आप किराए के मकान में रहना चाहते हैं। तो उसके लिए कुछ बातों का विशेष तौर पर ध्यान रखना आवश्यक है। क्योंकि यह बातें वास्तु से जुड़ी हैं। और वास्तु दोष होने से जीवन में क्लेश आता है।

इसलिए जब भी आप किसी किराए के मकान में रहने के लिए मकान को लेते हैं। तो उस समय उस मकान में रसोईघर, स्नानघर और पूजा घर को अवश्य देखें। क्योंकि अगर यह घर अशुभ दिशा में बने होंगे। तो उसमें रहने से आपको कष्ट ही प्राप्त होंगे।

अगर आप वास्तु से संबंधित जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं। कि कौन सा स्थान रसोईघर, स्नानघर और पूजा घर के लिए शुभ होगा। तो आप यहां पर देख सकते हैं। यहां पर आपको वास्तु से संबंधित विस्तृत जानकारी प्राप्त होगा।

गृह प्रवेश में घर को कैसे सजाएं?

गृह प्रवेश करने के लिए घर को सजाने के लिए आप फूल की माला और दरवाजे पर आम के पत्तों का बना हुआ तोरण का इस्तेमाल करना चाहिए। हालांकि आज सजावट करने के लिए तमाम सुविधाएं उपलब्ध हैं। जिस काम लोग इस्तेमाल करते हैं। आप अपने सुविधानुसार कोई भी सजावट कर सकते हैं।

      You cannot copy content of this page

      Ask Muhurt
      Logo